2021 में लैपटॉप खरीदते समय किन चीज़ों का ध्यान रखे | एक अच्छे लैपटॉप का चयन कैसे करे

2021 में लैपटॉप खरीदते समय किन चीज़ों का ध्यान रखे | एक अच्छे लैपटॉप का चयन कैसे करे


कम्प्यूटर्स हमारे जीवन का एक महत्वपूर्ण हिस्सा बन चूका है। मैं तो कम्प्यूटर के बिना रह ही नहीं सकता। कंप्यूटर का मेरे जीवन पर एक गहरा असर है और मुझे कम्प्यूटर्स के बारे में जानना और बातें करना बोहोत पसंद है। तो आज मैं आपलोगों को एक आर्टिकल, 2021 में लैपटॉप खरीदते समय किन चीज़ों का ध्यान रखे और एक अच्छे लैपटॉप का चयन कैसे करे इसके बारे में बताने वाला हूँ।

वैसे तो हम डेस्कटॉप कंप्यूटर से भी अपना सब काम कर सकते हैं जो हम लैपटॉप से कर सकते हैं। लेकिन मेरे लिए लैपटॉप ज़्यादा कम्फर्टेबले है। क्यों की मैं हमेशा ट्रेवल करता रहता हूँ, और लैपटॉप होने की वजह से इसको अपने साथ कहीं भी लेके जा सकता हूँ।

दोस्तों मैंने यह देखा  बोहोत सारे लोग लैपटॉप जब खरीदने जाते हैं तो कंफ्यूज हो जाते हैं कौन सा ख़रीदे। और तब शॉपकीपर अपने कुछ फायदे के लिए एक बेकार सा लैपटॉप कस्टमर को थमा देता है। जिस कंपनी से ज़्यादा कमीशन मिलता है उसी का लैपटॉप दुकानदार बेचने की कोशिश करता है।

और जैसा की ग्राहक को टेक्नोलॉजी की अच्छी जानकारी न होने की वजह से दुकानदार ग्राहक को ज़्यादा दाम  बेकार सा प्रोडक्ट थमा देता है। ऐसा होता है इसीलिए मैं यह बोल रहा हूँ। मैंने ऐसा होते हुए देखा है। तो यह आर्टिकल  आज मैं इसी चीज़ को ध्यान में रख के लिख रहा हूँ।

2021 में लैपटॉप खरीदते समय किन चीज़ों का ध्यान रखे | एक अच्छे लैपटॉप का चयन कैसे करे

आपको अपने लैपटॉप से क्या काम करना है:

सबसे पहले आपको यह निर्णय लेना होगा की आप अपने लैपटॉप पर किस तरह का काम करना चाहते हैं। यानी आप उस लैपटॉप को मॉडरेट या हैवी यूसेज के लिए लेना चाहते हैं।

मॉडरेट यूसेज: वेब, ईमेल और सोशल मीडिया पर सर्फिंग, मूवी देखना या कंटेंट स्ट्रीमिंग, documents को टाइप करना, internet surf करना, documents को edit और छोटे मोटे Game खेल सकते हैं। साथ ही जो लोग ज़्यादा रिसर्च करते हैं उनको एक ही समय पर multiple documents और tabs खोलके रखना पड़ता है, तो उनके लिए भी ऐसे लैपटॉप्स सही है।

हैवी यूसेज: यहाँ आप heavy video editing, heavy programming, Photoshop, AutoCAD, Heavy Gaming, ऐसे process कर सकते हैं। अगर आपकी requirements यह सभी हैं तो आप heavy process करना वाला laptop खरीद सकते हैं।
 

एक लैपटॉप का परफॉरमेंस किस चीज़ पर निर्भर करता है:

एक लैपटॉप का परफॉरमेंस निर्भर करता है उसके Processor, RAM, Battery, Internal Storage, Graphics Card इन सबके ऊपर। उदहारण के तौर पर Ryzen 7, 8 GB DDR4, 41 Watt Battery Capacity, 1 TB HDD, AMD Radeon Graphics Card.

प्रोसेसर क्या है [PROCESSOR]:

  • एक Processor, एक Computer का दिमाग होता है। Processor जितना Powerful होगा उतना ही जल्दी वह काम करेगा और ज़्यादा काम करेगा।
  • Processor जितना अच्छा होगा उतना ही हम अपने computer पर काम कर पाएंगे।
  • अब processor कौन सा लेना है यह हम कैसे choose करें ? अगर आप ज़्यादा पैसे लगा रहे हैं तो आप Intel के 9th और 10th Generation को consider कीजियेगा। अगर 8th, 7th Generation बोहोत सस्ते में deal देखने को मिलता है तो इन्हे consider कर सकते हैं।
  • आप सिर्फ i3, i5, i7 नहीं देखना, बल्कि इनका Generation देखना। आपको intel में generation देखना है की वह कौन से generation का processor है ।
  • AMD के Processors काफी बढ़िया आ रहे हैं मार्किट में। तो आप AMD के processors को Intel से compare कीजियेगा
  • हमेशा Google पर देखें की कौन सा प्रोसेसर कब लांच हुआ था। processor में आप हमेशा ध्यान रखें की आपको latest Gen या Processor लेना है।
  • एक बात का हमेशा ध्यान रखें की processor choose करते वक़्त ज़्यादा Core और ज़्यादा Thread वाला processor ही choose करें।

प्रोसेसर के प्रकार [Types of Processor]:

प्रोसेसर के प्रकार [Types of Processor]

  • Laptops के जो Processors होते हैं वह ज़्यादातर दो ही कंपनियां बनाती हैं – Intel और AMD
  • Intel की अपनी Series है जिनका नाम है Pentium, Celeron, Core i3, Core i5, Core i7 और Core i9
  • AMD की जो Series है वह है A, FX और Ryzen

रेम क्या है [RAM]:

RAM जितना ज़्यादा होगा उतना ही हम अपने laptop पर multi-tasking कर सकते हैं।
  • RAM को कहते हैं Random Access Memory. यह हमारे कंप्यूटर में जितने भी tasks ओपन करते हैं यानी Documents, Apps, Games इन सबको अपने में स्टोर रखता है।
  • RAM को हम Temporary Memory भी कह सकते हैं क्यों की जब हम Computer को बंद कर देते हैं तब RAM में store हुए सब process बंद हो जाता है।
  • RAM जितना ज़्यादा होगा उतना ही यह सब tasks simultaneously चलेंगे।
  • Laptops में हमें ज़्यादातर 4GB, 8GB, 16GB तक की RAM देखनेको मिल जाती है।
  • आप जब extra slot में RAM लगाते हैं तो इस बात का ध्यान रखें की दोनों RAM एक जैसे हो, इससे होता क्या है की laptop, dual-channel पे चलता है। यानी अगर एक स्लॉट में 4 GB का RAM लगा हुआ है तो दूसरे slot में भी 4 GB का RAM ही लगाए, इससे computer को ज़्यादा power मिलती है। यही dual-channel होता है।

रेम के प्रकार [Types of RAM]:

  • DDR3: अधिक पुराना, धीमा और अधिक बिजली की खपत। 
  • DDR4: नया, तेज़, कम बिजली की खपत।
  • हमेशा DDR4 वाला RAM ही choose करें। क्यों की यह power save करता है, battery life को improve करता है और आपके laptop को future-proof बनाता है।
  • समय के साथ साथ हम जो applications और operating system use करते हैं वो सभी upgrade होते रहते हैं जिसकी वजह से हमें ज़्यादा RAM की ज़रूरत पड़ती है। इसीलिए जब भी laptop खरीदें तो इस बात का ध्यान रखें की RAM को आप upgrade कर सकते हैं की नहीं।
  • RAM में speed होती है। इसकी स्पीड 2400 Mhz-3200 Mhz तक होती है। तो जितना ज़्यादा speed उतना बेहतर RAM
  • अगर आप heavy software जैसे Photoshop, AutoCAD, Gaming, इनको चलाते हैं तो आपको 16 GB तक का RAM लगाना चाहिए।

इंटरनल स्टोरेज [Internal Storage]:

लैपटॉप के इंटरनल स्टोरेज तीन प्रकार के होते हैं :

1. Hard Disk Drive (HDD)
2. Solid State Drive (SSD)
3. Solid State Hybrid Drive (SSHD)

इंटरनल स्टोरेज [Internal Storage]

  • HDD में हमें कम दाम में ज़्यादा Storage Space देखने को मिलता है। इसके अंदर moving parts होने की वजह से प्रोसेसिंग स्पीड थोड़ा स्लो होता है SSD के मुकाबले।
  • SSD, HDD के मुकाबले ज़्यादा fast होता है और इसका price भी बोहोत ज़्यादा है। SSD की वजह से Windows को Start होने में 5 Seconds लगता है।
  • SSHD, SSD और HDD का combination होता है। इसका मतलब आपको large storage space के साथ fast loading speed भी मिल जाती है। एक SSHD में आपको 128 GB SSD और 1 TB तक की HDD आपको मिल सकती है। OS के साथ बाकी Applications SSD में इनस्टॉल करके बाकी Movies, Music, Docs, इन सब को आप HDD में store कर सकते हैं।
  • अगर किसी Laptop में SSD नहीं है और उस Laptop में M.2 का slot है तो आप उस laptop को खरीद सकते हो क्यों की आप उस लैपटॉप में अलग से SSD लगा सकते हो।
  • SSD की longevity ज़्यादा होती है और वो ख़राब भी कम होते है क्यों की उनमें moving parts नहीं होते।

ग्राफ़िक्स कार्ड क्या है [Graphics Card]:

  • एक ग्राफिक्स कार्ड लैपटॉप के अंदर एक dedicted chip होता है, हम स्क्रीन पर जो pictures देखते है उनकी गुणवत्ता का ज़िम्मेदार graphics card होता है।
  • RAM की ही तरह, जितना ज़्यादा GB का graphics card होगा उतना ही हमारा Game, smoothly चलेंगे।
  • Photoshop, AutoCAD, Games, Heavy Applications, Video Rendering यह सब काम करने के लिए dedicated graphics card की ज़रूरत पड़ती है।
  • Graphics Card हमें दो कंपनियों से provide की जाती है, एक है NVIDIA और दूसरा है AMD

NVIDIA ग्राफ़िक्स कार्ड के फीचर्स:

  • NVIDIA GTX 1050 से लेके NVIDIA GTX 160Ti तक आप casual gaming और photo editing के लिए use कर सकते हैं।
  • और NVIDIA GTX 1070 से लेके NVIDIA RTX 2080Ti तक आप hardcore gaming वो भी high frame rate (FPS) और heavy video editing कर सकते हैं।

AMD ग्राफ़िक्स कार्ड के फीचर्स:

  • AMD RX 550 से लेके AMD Radeon RX 590 casual gaming और photo एडिटिंग कर सकते हैं।
  • AMD Radeon RX Vega 56 से लेके AMD Radeon RX 5700 XT तक आप hardcore gaming और heavy video editing कर सकते हैं।

इंटीग्रेटेड और डेडिकेटेड ग्राफ़िक्स कार्ड के बिच अंतर:

Integrated Graphics card: Integrated Graphics card की मदत से आप अपने लैपटॉप पर movies, light photo editing, यह सब कर सकते हैं। AMD और INTEL के processors में Integrated Graphics card मौजूद होते हैं जिससे आप रोजमर्रा के कामों को बिना परेशानी के कर सकते हैं।

Dedicated Graphics Card: Dedicated Graphics Card की मदत से आप Heavy Gaming, Heavy Video Editing, Photoshop, AutoCAD, Premiere Pro, After Effect, Blender यह सब चीज़ें कर सकते हैं। Dedicated Graphics Card, Integrated के मुकाबले बोहोत ताकतवर होते हैं और AMD, NVIDIA, Dedicated Graphics Card का प्रोडक्शन करते हैं।

ब्रांड [Brand]:

  • यहाँ सबसे important है BRAND. Brand आपको ऐसा लेना चाहिए की आपको सर्विस मिल जाये। अगर आपने ऐसा brand ले लिया जिसकी कोई service सेंटर ही न हो आपके घर के पास तो उस brand का फायदा क्या। laptop की service और warranty बोहोत ज़्यादा important होती है।
  • आप अगर चाहे तो अपने laptop की warranty extend करा सकते है। जिससे आपको बोहोत फायदा मिलेगा। अगर कभी आपके लैपटॉप की screen, keyboard, battery ख़राब हो जाये तो आप सोचिये की आपका कितना loss हो सकता है। तो extended वारंटी recommended है।

अन्य पढ़ें:



निष्कर्ष:

तो हमारा आज का पोस्ट 2021 में लैपटॉप खरीदते समय किन चीज़ों का ध्यान रखे | एक अच्छे लैपटॉप का चयन कैसे करे , आपको कैसा लगा। इस पोस्ट में मैंने उन सारी ज़रूरी चीज़ों को include करने की कोशिश की है जो एक laptop खरीदते वक्त हम सबको ध्यान में रखना चाहिए।

तो हमेशा एक लैपटॉप खरीदने से पहले थोड़ा रिसर्च करलें की आपको कैसा लैपटॉप चाहिए। अगर आप इस पोस्ट  को अच्छे से पढ़ेंगे तो आपको इस बारे में बोहोत ज़्यादा जानने को मिलेगा। इस पोस्ट में मैंने अपने पर्सनल एक्सपीरियंस और कुछ रिसर्च करके कंटेंट लिखा है।

अगर आपको यह पोस्ट पसंद आया तो दूसरों के साथ शेयर ज़रूर कीजिये और इस ब्लॉग को फॉलो कर लीजिये। अपना कीमती वक़्त देके आपने इस पोस्ट को पढ़ा इसके लिए धन्यवाद्। 

Please Do Not Enter any Spam Link in the Comment Box

Post a Comment (0)
Previous Post Next Post